छत्तीसगढ़ के रायपुर में ऐग्रिकल्चर डिपार्टमेंट के बी. डी. गुहा ने नारियल से ब्लड ग्रुप पहचानने की तकनीक ईजाद की है। गुहा किसी भी इंसान को छुए बिना महज 10 सेकंड में उसका ब्लड ग्रुप बता देते हैं।

गुहा का दावा है कि वह इस तकनीक से भरा और खाली सिलिंडर,अंडरग्राउंड पानी और सुरंगों की भी पहचान कर सकते हैं। गुहा बताते हैं कि वह नारियल से 5 ब्लड ग्रुप- ए पॉजिटिव, एबी पॉजिटिव, बी पॉजिटिव, ओ पॉजिटिव और ओ निगेटिव की पहचान सकते हैं, बाकी तीन के लिए रिसर्च जारी है। उनके तीनों बच्चे भी इस काम में उनकी मदद कर रहे हैं। उनकी पत्नी मीनाक्षी भी अब इस आर्ट में एक्सपर्ट हो गई हैं।

गुहा बताते हैं कि किसी भी व्यक्ति के सिर से थोड़ा ऊपर हथेली में नारियल लें। थोड़ी देर में नारियल अलग दिशा में मुड़ जाता है। जिस जगह अंडरग्राउंड पानी या उसकी पाइपलाइन हो, वहां नारियल सही नतीजे नहीं बताता। ए पॉजिटिव ब्लड ग्रुप होने पर नारियल 45 डिग्री की पोजिशन लेता है। एबी पॉजिटिव में 45 से 55 डिग्री, बी पॉजिटिव में 60 डिग्री, ओ पॉजिटिव में 90 और ओ नेगेटिव में 180 डिग्री की पोजिशन ले लेता है।

गुहा ने बताया कि साल 2005 में बलौदा बाजार के एक स्कूल में पानी के स्रोत का पता लगाने के लिए उन्हें बुलाया गया था। वहां बच्चे बहुत शरारत कर रहे थे। उन्हें शांत कराने के लिए गुहा ने कहा कि तुम सब एक लाइन में खड़े हो जाओ, मैं देखूंगा कि तुममें पानी है या नहीं। मजाक में किए गए इस परीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि कुछ बच्चों के सिर से थोड़ा ऊपर हथेली पर रखा नारियल 90 डिग्री में खड़ा हो गया। इसके बाद उन्होंने यही एक्सपेरिमेंट अपने बच्चों पर किया। नतीजा वही रहा।

इसके अलावा लैब में बच्चों का ब्लड ग्रुप चेक करने पर ओ पॉजिटिव निकला। बस यहीं से उनका सफर शुरू हो गया। फिलहाल अब गुहा परिवार रिसर्च के बाद नई जानकारियां जानने में लगा है। विभिन्न ब्लड ग्रुप में नारियल दिशा क्यों बदलता है, अब वह इसके लिए रिसर्च कर रहे हैं।


Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email