● सूखे मेवों में काजू का नाम पहले स्‍थान पर आता है। काजू भले ही थोड़ा महंगा हो लेकिन इसे नियमित रूप से खाने के कई स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक फायदे हैं। काजू खाने से अनेक प्रकार की बीमारियां कंट्रोल में आती हैं तथा त्‍वचा भी खूबसूरत बनती है। काजू को हद से ज्‍यादा भी नहीं खाना चाहिये। काजू से शरीर का मेटाबॉलिज्‍़म ठीक होता है तथा दिल की बीमारी भी दूर रहती है।
● काजू में मिनरल्‍स जैसे मैगनीशियम, पोटैशियम, कॉपर, आयरन, मैगनीज़, जिंक और सीलियम होते हैं, जो इसके काफी पौष्टिक भी बनाते हैं। आइये जानते हैं काजू खाने के 8 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ।
1) दिल के लिये फायदेमंद
काजू में मोनो सैचुरेटड फैट होता है जो की दिल को स्वस्थ रखता है और दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है। इसमें बिल्‍कुल भी कोलेस्‍ट्रॉल नहीं होता है।
2) शरीर बनाए मजबूत
काजू में मेगनीशियम पाया जाता है जो कि हड्डी में मजबूती लाता है। हमारे शरीर को रोजाना 300-750 mg मैगनीशियम की आवश्‍यकता पड़ती है।
3) रंगत निखाारे
त्वचा के लिए भी काजू काजू को दूध में मिलाकर रगड़ने से त्वचा सुंदर और मुलायम बनती है। इससे रंगत भी निखरती है। काजू का नियमित सेवन आपके बालों को झड़ने से रोकते हैं।
4) बी पी रखे कंट्रोल में
इन मेवों में सोडियम बहुत ही कम और पोटैशियम हाई मात्रा में होता है, जिससे ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
5) कैंसर से बचाए
काजू में एंटी ओक्सिडेंट जैसे विटामिन ई और सेलनियम भी होते हैं जो कि कैंसर से बचाव करता है। इसके साथ ही इसमें जिंक होता है जो कि संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।
6) वजन संतुलित रहे
काजू में अधिक ऊर्जा होती है और इसमें dietry fibre की मात्रा भी अधिक होती है इसलिए इसको खाने से शरीर का वजन संतुलित रहता है।
7) डायबटीज़ कम करे
मधुमेह यानी डायबटीज़ को कम करने के लिए काजू काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। एक नए अध्ययन में खुलासा हुआ है कि काजू इंसुलिन की मात्रा बढ़ाता है, जिससे मधुमेह नियंत्रित रहता है।
8) एनीमिया दूर करे
काजू में मौजूद कॉपर शरीर में एंजाइम गतिविधि, हार्मोन का उत्पादन, मस्तिष्क का कार्य आदि संभालने में मदद करता है। कॉपर रेड ब्‍लड सेल्‍स को बढ़ा कर एनीमिया जैसी बीमारी को दूर करता है।


Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email