अगर आप जोड़ो के दर्द,
पसलियों के दर्द या ठंड में
किसी अन्य तरह के दर्द 
से परेशान हैं तो अजवाइन से बेहतर कोई औषधि नहीं है।अजवाइन को आयुर्वेद में कई बीमारियों की एक दवा माना गया है।
● अजवाइन गैस व कफ के रोगों को दूर करनेवाली है,
दर्द, वायुगोला आदि रोगों का नाश करती है।
आचार्य चरक के अनुसार अजवाइन दर्द को मिटाने वाली व भूख बढ़ाने वाली है।
● आचार्य सुश्रुत ने अजवाइन को दर्द निवारक व पाचक माना है। प्रसूता स्त्री के शरीर पर अजवाइन का चूर्ण मलने से प्रसव के कारण हुई शारीरिक पीड़ा दूर हो जाती है।
कैसा भी जोड़ो का दर्द हो
● अगर उस पर अजवाइन का तेल बनाकर लगाया जाए तो दर्द में बहुत जल्दी राहत मिलती है।
10 ग्राम अजवाइन का तेल
10 ग्राम पिपरमेंट और
20 ग्राम कपूर
तीनों को मिलाकर एक बोतल में भर दें।
दर्द या कमरदर्द या पसलीदर्द, सिरदर्द आदि में तुरंत लाभ पहुंचानेवाली औषधि है।
इसकी कुछ बूंदे मलिए,
दर्द छूमंतर हो जाएगा।
अजवाइन के तेल की मालिश करने से जोड़ों का दर्द जकडऩ तथा शरीर के अन्य भागों पर भी मलने से दर्दमें राहत मिलती है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email