सांवली त्वचा बेहद खूबसूरत लगती है लेकिन भारतीय समाज गोरे रंग को प्राथमिकता देता है। इसीलिए हमारे यहां रंग गोरा बनाने वाली ढेरों क्रीम बिकती है। सच तो यह है कि हमारी त्वचा‬ का रंग नहीं बदला जा सकता बस हम उसे साफ- सुथरी और निखरी हुई बना सकते हैं।
* घरेलू उपचार करने के लिये आपको कोई भी मंहगी चीज नहीं खरीदनी पडे़गी। बस इसके लिये आपको अपने चेहरे का ख्‍याल रखना पडे़गा। चेहरे की रंगत गोरी करने के लिये आपको दिन में कई बार चेहरा धोना, चेहरे पर फेस पैक लगाना या फिर नींबू, दही और पपीते से चेहरे की हर दिन मालिश करना आदि करना पडे़गा। ऐसा 7 दिनों तक करने से आपका चेहरा गोरा हो जाएगा। पानी पीना भी बहुत जरुरी है, जिससे शरीर की गंदगी बाहर निकले और आप प्राकृतिक रूप से ग्‍लो करने लगें। तो अगर आपको गोरा बनना है, तो इसके लिये अपनाइये हमारे दिये गए आसान से सुझाव।
* एक बार आप मान लें कि दुनिया की कोई भी क्रीम आपको गोरा नहीं बना सकती। आपको जो त्वचा प्राकृतिक रूप से मिली है उसी को स्वस्थ और आकर्षक बनाने के जतन करने चाहिए।
* बाजार की क्रीमों में ब्लीच होता है जो उतने ही समय के लिए उजला दिखाता है जितने समय आप उसे लगाते हैं। इन क्रीमों से त्वचा जल जाती है। धीरे-धीरे आप उसके एडिक्ट हो जाते हैं। हम बता रहे हैं त्वचा की रंगत निखारने के प्राकृतिक तरीके :-
* चेहरे को धोएं चेहरे पर पड़ी धूल मिट्टी और गंदगी को हर वक्‍त साफ करें क्‍योंकि ऐसा न करने से चेहरा काला दिखने लगता है।
* ऐसे कई फेस पैक्‍स हैं जो आपको 7 दिनों में गोरा लुक दे सकते हैं। लेकिन इसके साथ आपको स्‍क्रब का भी प्रयोग करना चाहिये जिससे स्‍किन का रंग प्राकृतिक तरीके से निखरे।
* नींबू यह एक प्राकृतिक ब्‍लीच है जो आपको गोरा बना सकता है। या तो आप इसे डायरेक्‍ट चेहरे पर लगा सकती हैं या फिर इसे फेस पैक में डाल कर प्रयोग कर सकती हैं।
* दही में प्रोबायोटिक तत्‍व होते हैं जो त्‍वचा को साफ कर के उसे अंदर से गोरा करते हैं। हर रोज दही से अपने चेहरे की मसाज करें।
* सांवली त्वचा को सलोनी रंगत देने के लिए अपनी मजीठ, हल्दी, चिरौंजी 50-50 ग्रा. लेकर पाउडर बना लें। एक-एक चम्मच सब चीजों को मिलाकर इसमें 6 चम्मच शहद मिलाएं और नींबू का रस तथा गुलाब जल डालकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे, गरदन, बांहों पर लगाएं और एक घंटे के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो दें। ऐसा सप्ताह में दो बार करने से चेहरे का सांवलापन दूर होकर रंग निखर आएगा।
* नींबू व संतरे के छिलकों को सुखाकर चूर्ण बना लें। इस पाउडर को हफ्ते में एक बार बिना मलाई के दूध में मिलाकर लगाएं, त्वचा में आकर्षक चमक आएगी।
* दूध में केसर या एक चम्मच हल्दी का सेवन करने से भी रक्त साफ होता है।
* गर्मियों में संतरे का ज्यूस दो बार लेने से रंग साफ होता है।
* 2 छोटे चम्मच अनार के रस में चुटकी भर हल्दी व थोड़ी-सी मलाई मिलाकर फेंटें। इस लेप को चेहरे पर मले, 15-20 मिनट उपरांत गुलाब जल युक्त पानी से चेहरा धो लें। चेहरा गुलाबी-गुलाबी आभा से दमकने लगेगा।
* नीबू व आलूबुखारे का रस उबले आलू में मिलाकर चेहरे पर मलें, त्वचा साफ व कोमल रहेगी।
* पके परवल के गूदे को बारीक पीसकर उसमें कच्चा दूध मिलाकर चेहरे पर रगड़ें, सांवलापन दूर हो जाएगा।
* सेब के रस में थोड़ा-सा बेसन मिलाकर चेहरे पर मलने से झुर्रियां व झाइयां दूर हो जाती हैं।
•* आंखों के नीचे का कालापन दूर करने के लिए कच्चे आलू की फांकें रगडऩे से काले धब्बे दूर हो जाएंगे।
* गुलाब के फूल की पंखुडिय़ों को पीसकर लेप को ग्लिसरीन में मिलाकर चेहरे पर मलें, चेहरा गुलाब की भीनी-भीनी खुशबू के साथ गुलाबी-गुलाबी आभा में दमकने लगेगा।
* माल्टा के रस में शहद व मलाई मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा चमकदार बनी रहेगी।
* लाल टमाटर व नीबू के रस में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा की खुश्की दूर होती है।
* कागजी नीबू के छिलके जांघों पर मलने से जांघें चिकनी-मुलायक तो होती ही हैं, रंगरूप भी निखरता है।
* नाशपाती के गूदे को दूध में घोलकर, इसके लेप को चेहरे पर लगाकर रूई से रगड़ें, फिर गुनगुने पानी से धो लें, चेहरा खिल उठेगा।
* रात्रि में सोने से पूर्व एक छोटे चम्मच दही में चुटकी भर हल्दी फेंटें, इसे हाथों पर मलें, हाथों का रंग रूप निखरने लगेगा।
* ताजा लाल गुलाब का रस होंठों पर लगाने से होठों की आभा दमकने लगती है, नित्य गुलाब का रस मलने से होंठ फटते भी नहीं।
* खट्टे फलों के गूदे हाथ-पैरों पर मलें, सूखने पर हाथ पैर धोलें, हाथ पैरों का सौन्दर्य खिल उठेगा।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email