● अनार शब्द सुनते ही एक कहावत स्मरण हो आता है-‘एक अनार, सौ बीमार।' चौंकिए मत, अनार बीमारियों का घर नहीं है, बल्कि यह तो हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके साथ सबसे अच्छी बात यह है कि यह पूरे साल उपलब्ध रहता है। हालांकि कई लोग पौष्टिक फल की श्रेणी में इस शानदार फल को कम आंकते हैं। लेकिन आज हम आप को बताते हैं कि अनार किस तरह हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है।
● अनार के कई बडे़ फायदे हैं, जैसे अगर आपके घर में कोई गर्भवती महिला है तो आप उसे रोज अनार का जूस पिलाएं। इससे उसका बच्चा स्वस्थ पैदा होगा है और उसके बच्चे को कम वजन जैसी बीमारी का सामना नहीं करना पड़ेगा
1) बुढापा आने से बचाए
बहुत कम लोग ही इस तथ्य से परिचित हैं कि अनार एंटीऑक्सीडेंट का बहुत ही अच्छा स्रोत है। इसलिए यह शरीर की कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स से बचाता है, जिससे आप वक्त से पहले बूढ़े नहीं दिखते। फ्री रेडिकल्स का निर्माण सूर्य की रोशनी और वातावरण में मौजूद विषैले तत्व से होता है।
2) प्राकृतिक ब्लड थीनर
खून दो तरह से जमते हैं। पहला तो कटने या जलने की स्थिति में खून जमता है, जिससे खून का बहाव रुक जाता है। वहीं दूसरे तरह का खून आंतरिक रूप से जमता है, जो बहुत ही खतरनाक होता है। मसलन हृदय या धमनी में खून जम जाने से इसका परिणाम प्राणघातक भी हो सकता है। अनार में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण खून के लिए वही काम करता है, जो पेट के लिए थीनर करता है। यह शरीर में खून को जमने या थक्का बनने से रोकता है।
3) एथेरॉसक्लेरॉसिस से रोकता है
बढ़ती उम्र और गलत खानपान से रक्तवाहिनी की दीवार कोलेस्ट्रोल व अन्य चीजों से कठोर हो जाती है, जिससे रक्त के बहाव में अवरोध पैदा होता है। अनार का एंटीऑक्सीडेंट गुण कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन और कोलेस्ट्रोल को ऑक्सीडाइजिंग से रोकता है। यानी अनार रक्तवाहिनी की दीवार को अतिरिक्त वसा से कठोर होने से बचाता है।

4) अनार करता है ऑक्सीजन मास्क की तरह काम
साधारण शब्दों में कहें तो अनार का जूस खून में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाता है। इसका एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रोल को कम करता है, फ्री रेडिकल्स से बचाता है और खून का थक्का बनने से रोकता है। यानी अनार शरीर में खून की प्रवाह को बेहतर बनाता है, जिससे खून में ऑक्सीजन का स्तर भी सुधरता है।
5) गठिया रोग से रोकथाम
अनार गठिया रोग से पीड़ित व्यक्ति के कार्टिलेग को नुकसान पहुंचने से बचाता है। यह फल कार्टिलेग को नष्ट करने वाले एंजाइम से लड़ता है और जलन और सूजन से भी सुरक्षा प्रदान कराता है।
6) इरेक्टाइल डिसफंक्शन से बचाता है
आप माने या न माने, अनार लज्जनजक स्थिति निर्मित होने से भी बचाता है। पर ध्यान रहे, यह कोई आश्चर्यजनक दवा नहीं है। अनार इलेक्टाइल डिसफंक्शन को सामान्य रूप से ही सुधारता है। हालांकि इस विषय को लेकर शोध कार्य जारी है, फिर भी इस फायदे के पक्ष में कई लोग हैं।
7) प्रोस्ट्रेट कैंसर और दिल की बीमारी से सुरक्षा
इस विषय को लेकर भी शोध जारी है, लेकिन दो अलग-अलग अध्ययन कहती है कि अनार का जूस प्रोस्ट्रेट कैंसर से लड़ने में मदद करता है। एक प्रयोगशाला परीक्षण में पाया गया कि अनार का जूस कैंसर सेल के विकास को धीमा कर उसे मार देता है। एक अन्य प्रयोग में यह तथ्य सामने आया कि अनार खून की स्थिति को सुधारता है, जिससे हृदय से संबंधित बीमारी से ग्रसित रोगी को स्वास्थ्य लाभ मिलता है।
☆ सावधानी: अनार का जूस दिल के मरीज की दवाई के साथ रिएक्शन कर सकता है।
8) दस्त से राहत
अगर आप दस्त से जूझ रहे हैं तो अनार खाना अच्छा रहता है। इसका जूस मिचली पैदा होने से भी बचाता है।
9) वजन नहीं बढाता
अनार से वजन नहीं बढ़ता है, क्योंकि यह बिना कैलोरी वाला फल है।
10) हड्डी बने मजबूत
कार्टिलेग को विकृत होने से बचाता है- इस फल से हड्डी को मजबूती मिलती है और कार्टिलेग को विकृत होने से बचाता है।
11) ब्लड प्रेशर को कम करता है
ब्लड प्रेशर कम करने के लिए भी अनार काफी अच्छा माना जाता है।
12) अल्जाइमर रोग को घटाता है
अल्जाइमर रोग जैसी याददाश्त से संबंधित बीमारी से निजात दिलाने में भी अनार काफी उपयोगी होता है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email