कुम्हार की काली मिट्टी में जरा-सा देशी घी मिलाकर शरीर के विशेष अंगों पर लेप करें|
करेले का रस चार चम्मच और मकोय का अर्क पांच चम्मच - दोनों को मिलाकर रोज सुबह के समय खाली पेट सेवन करें|
करेले के थोड़े-से रस में एक चम्मच सोंठ का चूर्ण मिलाकर पिएं|
गुलाबजल में कपूर मिलाकर सूजन वाले स्थान पर लगाएं|
सूजन पर हल्दी व चूने को लेप बहुत फायदा करता है|
गाय के आधे कप ताजे मूत्र में 50 ग्राम अखरोट का तेल मिलाकर सारे बदन पर मालिश करें|
कच्चे आलू पानी में उबालकर उस पानी से अंग विशेष पर सेंक लगाएं|
गरम पानी में दो-तीन शलजम के छोटे-छोटे टुकड़े डालकर थोड़ी देर तक रखा रहने दें| फिर उस पानी से प्रभावित अंग धोएं अथवा उबले पानी में जरासा शलजम का अर्क डालकर शरीर धोएं|
शरीर में सूजन आ जाने पर तरबूज के रस में कालीमिर्च का चूर्ण डालकर सेवन करें|
सोंठ, कालीमिर्च तथा सौंफ - तीनों का चूर्ण दो चम्मच की मात्रा में गुड़ के साथ खाएं|
सोंठ तथा पुराना गुड़ मिलाकर खाने से शरीर की सूजन जाती रहती है|
चार-पांच कालीमिर्च मक्खन के साथ खाने से सूजन उतर जाती है|
पानी में गेहूं उबालकर उस पानी से सूजन वाले स्थान पर कपड़े द्वारा सेंकाई करें|
अनन्नास का रस पीने से सूजन कम हो जाती है|
मेथी की पत्तियों को उबालकर उसकी पुल्टिस बनाकर सूजन वाले स्थान पर बांधें|
काशीफल के आठ-दस बीजों की चटनी बनाकर शहद के साथ चाटें|
अरहर की दाल को पीसकर गरम करें| फिर उसकी पुल्टिस बांधें|
एरण्ड के पत्तों पर गरम तेल (सरसों का) चुपड़कर सूजन वाले स्थान पर रखकर पट्टी बांध दें|
10 ग्राम गेहूं की भूसी पानी में उबालें| फिर उसमें जरा-सा नमक डालकर छानकर पी जाएं|
मटर को पानी में उबालकर उस पानी से पैर की उंगलियां धोएं| जाड़ों में होने वाली पैर की उंगलियों की सूजन खत्म हो जाएगी|
तारपीन के तेल में सरसों का तेल मिलाकर सूजन वाले स्थान पर रोज मालिश करें|
फिटकरी को पानी में डालकर उबाल लें| इस पानी से सूजन वाले अंगों को धीरे-धीरे कुछ देर तक धोते रहें|
सेंधा नमक के धेले को गरम करके सूजन वाला स्थान सेंकें|
गरम पानी में एक चम्मच तुलसी का अर्क, एक चम्मच सोंठ का चूर्ण और एक चम्मच सरसों का तेल डालकर सेंकाई करें|

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email