● हर रोज सेब का जूस पीना सेब खाने जितना ही फायदेमंद है। इससे ना सिर्फ आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे बल्कि बीमारियां आपसे कोसों दूर रहेंगी। आइए जानें सेब के जूस के अनजाने स्वास्थ्य लाभ के बारे में।
1) पोषण से भरपूर
एक गिलास ताजा सेब का जूस आपको भरपूर मात्रा में विटामिन 'ए' और 'सी' देता है। ध्यान रहे कि जूस निकालते वक्त सेब छिलका नहीं उतारना ताकि आपको पूरा पोषण मिल सके। सेब के छिलके में काफी न्यूट्रीशन होता है।
2) इम्मयून बूस्टर
सेब में मौजूद तत्व आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। अध्ययन बताते हैं कि सेब में पाया जाने वाला पेक्टिन विशेष फाइबर होता है जो इम्यून सपोर्टिव प्रोटीन्स के स्तर को बूस्ट करता है। अगर आप सेब का सेवन नहीं कर पा रहें तो दिन भर में एक गिलास सेब का जूस भी आपको कई बीमारियों से बचा सकता है।
3) हड्डियों को मजबूत बनाए
फ्रांस के शोधकर्ताओं ने पाया कि फ्लेनॉइड जिसे फ्लोरिड्जिन कहते हैं, यह केवल सेब में ही पाया जाता है। अक्सर रजोनिवृत्ति के दौरान महिलाओं में हड्डियों से जुड़ी समस्या होती है। ऐसे में सेब के जूस लेने से यह महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस से बचाता है। साथ ही, यह बोन डेंसिटी बढ़ाता है. सेब में पाया जाने वाला एक और तत्व बोरोन है, यह भी हड्डियों को मजबूती देता है।

4) अस्थमा में मददगार
अस्थमा से ग्रस्त बच्चों पर हुए अमेरिका के नेशनल लंग एंड हार्ट इंस्टीटय़ूट के हालिया शोध बताते हैं कि अस्थमा से ग्रस्त जिन बच्चों ने प्रतिदिन सेब के जूस का सेवन किया, उन्हें अस्थमा से ग्रस्त उन बच्चों की तुलना में जिन्होंने महीने में एक बार सेब के जूस का सेवन किया, सांस की तकलीफ कम हुई। सेब में मौजूद फ्लेवोनॉयड्स फेफड़ों को मजबूती प्रदान करता है।
5) बॉडी क्लींजर
थकान महसूस करने पर सेब का जूस तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है। ऐसा सेब में मौजूद शुगर की वजह से होता है। अगर आप रोज ताजा सेब का जूस पीते हैं, तो यह न सिर्फ आपकी फिटनेस बरकरार रखेगा,बल्कि न्यूट्रीशन भी प्रदान करेगा। इसके अलावा सेब में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर भी होता है। यही वजह है कि सेब का जूस इंसान की बॉडी के लिए एक बेहतरीन क्लीजनर भी है।
6) कोलेस्ट्रोल कम करे
लो कोलेस्ट्राल सेब में पाया जाने वाला पेक्टिन एलडीएल (बैड) कोलेस्ट्रॉल को कम करता है. प्रतिदिन दो सेब खाने वाला व्यक्ति 16 प्रतिशत से भी ज्यादा कोलेस्ट्रॉल कम कर सकता है.व्यर्थ कोलेस्ट्रॉल स्तर कम करता है सेब के रस वाले सिरके में पेक्टिन की उपस्थिति से शरीर में व्यर्थ का कोलेस्ट्रॉल कम होता है। कुठ लोगों को पेक्टिन से एलर्जी होती है इसलिये उन्हे सेब के रस वाले सिरके से बचना चाहिये।
7) कब्ज से राहत
कब्ज की समस्या अक्सर उस समय होती है जब बड़ी आंत बहुत ज्यादा पानी अवशोषित कर लेती है। सेब के रस में मौजूद सॉरबिटल इस समस्या से निजात दिलाता है। जब यह तत्व बड़ी आंत में पहुंचता तो यह पानी को निकाल देता है जिससे कब्ज की समस्या में तुरंत आराम मिलता है।

8) सौंदर्य बढ़ाए
सेब का रस बालों और त्वचा के लिए काफी फायदेमंद है। त्वचा व बालों के घरेलू नुस्खों में सेब के रस का बहुत प्रयोग किया जाता है। त्वचा संबंधी समस्या जैसे खुजली, सूजन, त्वचा का फटना, झुर्रियां आदि में इसका प्रयोग किया जाता है। यह एंटीफंगल होने के नाते स्कैल्प में होने वाले संक्रमण को तुरंत दूर करता है।
9) मधुमेह से बचाए
डायबिटीज मैनेजमेंट सेब में मौजूद पेक्टिन शरीर को गालैक्ट्युरोनिक एसिड सप्लाई करता है, जो शरीर के इंसुलिन की आवश्यकता को कम करता है। साथ ही, डायबिटीज मैनेजमेंट में भी सहायता करता है। हर रोज एक गिलास सेब का जूस लेने के बाद मधुमेह की जांच करवाएं आपको निश्चित ही उसमें परिवर्तन दिखाई देगा।
10) हृदय स्वास्थ्य
सेब में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है। इसमें मौजूद पॉलीफेनल और फ्लेवोनॉयड्स हृदय स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा इससे शरीर को जरूरी मिनरल, पौटेशियम मिलते हैं जिससे हृदय सुचारु रुप से काम करता है। इसलिए हर रोज सेब का एक गिलास जूस हृदय की सेहत बरकरार रखता है।
11) लंग कैंसर से बचाव
एप्पल जूस ट्यूमर और कैंसर के खतरे से बचाता है। विशेषकर लंग कैंसर से। फिनलैंड में 10,000 लोगों पर किये गये अध्ययन के अनुसार, जिन्होंने सेब का जूस का ज्यादा सेवन किया उनमें लंग कैंसर होने का खतरा पचास प्रतिशत तक कम हो गया। शोधकर्ता इसका कारण सेब में पाये जाने वाले उच्च स्तर के फ्लेवोनॉयड क्वेरसेटिन और नारिगिन को मानते हैं।


Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email