● डिप्रेशन एक ऐसी समस्या है जिसका सामना हम सभी कभी न कभी जरूर करते हैं। डिप्रेशन हमारे स्वास्थ्य का दुश्मन है। इस समस्या के लिए हम कुछ प्राकृतिक उपाय अपना सकते हैं। जैसे कि श्वसन प्रक्रिया, टहलना, अच्छा भोजन, दोस्त बनाना, संगीत सुनना आदि।
1) इन प्राकृतिक उपायों को अपनाकर दूर करें डिप्रेशन
डिप्रेशन यानी अवसाद इन दिनों हमारी जीवनशैली में इस कदर घुलमिल चुका है कि खुदको इससे बचाने के लिए प्रभावी कोशिशों की जरूरत है। अवसाद एक द्वन्द है, जो मन एवं भावनाओं में गहरी दरार पैदा करता है। अवसाद यह संकेत देता है कि आप कई मनोविकारों का शिकार हो सकते हैं। अवसाद में सामान्यत: मन अशान्त, भावना अस्थिर एवं शरीर अस्वस्थता का अनुभव करते हैं। ऐसी स्थिति में हमारी कार्यक्षमता प्रभावित होती है और हमारी शारीरिक व मानसिक विकास में व्यवधान आता है। अवसाद से निपटने के कई तरीके व दवाएं हैं लेकिन अगर प्राकृतिक तरीकों से इसका निपटारा किया जाए तो बेहतर है। इससे आपकी सेहत को कोई नुकसान भी नहीं पहुंचेगा। जानें प्राकृतिक तरीकों से अवसाद को दूर करने के अचूक उपायों के बारे में।
2) लंबी सांस लें :-
आपको भले ही इस बात का एहसास न हो, लेकिन अवसाद व तनाव की अवस्था में आपके हृदय की धड़कन बढ़ जाती है। सांस ऊपर-नीचे होने लगती है। इसलिए जब भी आप पर तनाव से ग्रस्त हों तो आप अपनी श्वसन प्रक्रिया को नियंत्रित कर लें। इस क्रम में आप दस बार लंबी सांस लें और छोड़ें। बस आपकी हार्ट बीट नॉर्मल हो जाएगी और आप टेंशन फ्री हो जाएंगे।
3) डर पर काबू पाएं
कई बार अवसाद का कारण किसी प्रकार का डर का कारण भी तनाव हो सकता है, इसलिए डर पर काबू करने का प्रयास करें। ऐसे समय में आप उन बातों पर विचार करें, जो आपके दिमाग को रिलैक्स करती हों, जैसे - संगीत सुनना, प्रार्थना करना, व्यायाम, किताब पढ़ना, आराम से बैठ जाना आदि।
4) वॉक पर जाएं
बाहर निकल कर घूमने से मन बदल जाता है। घर के आस-पास की जगह, जहाँ प्राकृतिक वातावरण हो ऐसी जगह घूमने से मन बहल जाता है। आप घर के पास के पार्क, गार्डन या शहर के किसी दर्शनीय स्थल पर घूमने जा सकते हैं। सुबह-शाम कुछ देर घूमने से ही आपको अत्यधिक असर दिखाई देगा।
5) पसंदीदा खुशबू सूंघे
खुशबू वाले पदार्थ मन को बहुत आराम देते है। एक शोध में देखा गया है कि जो नर्स अपने कपड़े में सुगंध (परफ्यूम या इत्र) लगाती थी उन्हें तनाव से मुक्ति मिलती थी और जो नर्स सुगंध नही लगाती थीं, वे तनाव का सामना करती थीं। एक हल्की मनमोहक खुशबू आपके बड़े से बड़े तनाव को कुछ समय के लिए दूर कर सकती है।
6) अच्छा संगीत
मधुर संगीत प्राचीन समय से ही अवसाद दूर करने का महत्वपूर्ण उपाय माना जाता है। कोई भी तनावपूर्ण कार्य करने से पहले, जैसे अगर आपको कोई भाषण बोलना हो या पेपर देना हो, कुछ समय संगीत सुनने से तनाव कम हो जाता है।
7) पर्याप्त नींद लें
अवसाद की समस्या तभी होती है जब या तो बहुत अधिक सोते हैं या बिल्कुल नहीं सो पाते हैं। इस समस्या से बचने के लिए बेड पर जाने का एक समय निर्धारित कर लें और हर रोज उसी समय पर सोएं। इससे आप अवसाद से तो बचेंगे ही साथ ही आपकी लाइफस्टाइल भी अच्छी होगी। अच्छी नींद के लिए आप चाहें तो सोने से पहले नहा सकते हैं या हर्बल टी या ग्रीन टी भी ले सकते हैं।
8) संतुलित आहार
संतुलित आहार लें फल, सब्जी, मांस, फलियां, और कार्बोहाइड्रेट आदि का संतुलित आहार लेने से मन खुश रहता है। एक संतुलित आहार न केवल अच्छा शरीर बनता है बल्कि यह दुखी मन को भी अच्छा बना देता है।
9) व्यायाम करें
व्यायाम अवसाद को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है। इससे न केवल एक अच्छी सेहत मिलती है बल्कि शरीर में एक सकारात्मक उर्जा का संचार भी होता है। व्यायाम करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स का स्राव होता है जिससे दिमाग स्थिर होता है और अवसाद देने वाले बुरे विचार दूर रहते हैं।
10) दोस्त बनाएं
अच्छे दोस्त आपको आवश्यक सहानुभूति प्रदान करते हैं और साथ ही साथ अवसाद के समय आपको सही निजी सलाह भी देते हैं। इसके अतिरिक्त, जरूरत के समय एक अच्छा श्रोता साथ होना नकारात्मकता और संदेह को दूर करने में सहायक है।
11) कुछ नया करें
जब आप अवसाद ग्रस्त होते हैं तो खुद को कुछ नया करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। म्यूजियम जाएं या अपनी कोई मनपसंद लेखक की किताब पार्क में बैठकर पढ़ें। आप चाहें तो अपनी मनपसंद हॉबी क्लास भी ज्वाइन कर सकती हैं जैसे डांस, कुकिंग, गायन, पेंटिंग आदि। इससे आपका मन भी लगा रहेगा और अवसाद की समस्या से भी बचेंगे।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email