● आंवला प्राकृति का दिया हुआ ऐसा तोहफा है जिससे हमारे शरीर में पनप रही कई सारी बीमारियों का नाश हो सकता है। यदि आपको अच्‍छी सेहत का मालिक बनना है तो आंवला का जूस अभी से ही पीना शुरु कर दें। आंवला में आयरन और विटामिन सी भरा पड़ा होता है। हर इंसान को प्रतिदिन 50 मिली ग्राम विटामिन सी की जरूरत होती है तो ऐसे में यदि आप आंवला का सेवन या फिर इसके रस का सेवन करेंगे तो आपके शरीर में विटामिन सी की पूर्ती होगी।
● आंवले का जूस रोजाना लेने से पाचन दुरुस्त, त्वचा में चमक, त्वचा के रोगों में लाभ, बालों की चमक बढाने, बालों को सफेद होने से रोकने के अलावा और भी बहुत सारे फायदे हैं, जिसके बारे में आज हम आपको बताएंगे। आंवले का मौसम दिसम्बर से चालू होकर अप्रेल तक रहता है। आंवला का जूस बनाने के लिये उसे छोटे टुकड़ों में काट लीजिये और मिक्‍सी में बारीक पीस लीजिये। उसके बाद साफ कपड़े में पीसा गया आवंला डाल कर जूस निकाल लीजिये।
आंवला सेहत से भरा फल है तो ऐसे में आंवले का सेवन आपको कई बीमारियों से निजात दिला सकता है। आइये जानते हैं कि आंवला जूस हमें क्‍या क्‍या फायदा पहुंचा सकता है।
1) अस्‍थमा में लाभ
यदि आमला के रस को रोज शहद के साथ लिया जाए तो अस्‍थमा और ब्रोंकाइटिस की बीमारी में लाभ मिल सकता है।
2) कब्‍ज की बीमारी कंट्रोल करे
अमला का रस पेट की पाचन क्रिया को बढाता है और भयंकर कब्‍ज की बीमारी दूर करता है।

3) खून साफ करे
अमला रस को शहद के साथ पीने से खून साफ होता है।
4) पेशाब की जलन को मिटाए
यदि पेशाब में जलन होती है तो 30 एमएल, आमला रस दिन में दो बार रोज पीजिये।
5) अत्‍यधिक ब्‍लीडिंग रोके
यदि पीरियड्स के समय ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है तो आमला रस को रोजाना तीन बार केले के साथ लीजिये।

6) झाइयां मिटाए और चेहरे को चमकाए
रोज सुबह आमला का रस शहद के साथ पीने से आपका चेहरा चमकदार बनेगा और झाइंया मिटेंगी।
7) हृदय रोग दूर करे
यह दिल की मासपेशियों को मजबूत बनाता है और हृदय रोग से दूर रखता है।
8) पाइल्‍स का इलाज
पाइल्‍स के समय पैदा होने वाले कब्‍ज से आमला का रस राहत दिलाता है।
9) आंखों की रौशनी बढाए
आमला जूस नियमित पीने से आंखों की रौशनी बढाती है।
10) मुंहासो को मिटाए
आमला जूस चेहरे पर पैदा होने वाले एक्‍ने और मुंहासो से निजात दिलाता है।
11) डायबिटीज कंट्रोल करे
मधुमेह रोगियों के लिये आमला जूस वर्दान है। इसे शहद और हल्‍दी पाउडर के साथ पीने से मधुमेह कंट्रोल होता है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email