क्या आपको हर समय उंगलियों की हड्डियों में हल्का-हल्का दर्द रहता है? इसका मतलब है कि आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ रही है। शरीर में यूरिक एसिड, प्यूरिन का एक ब्रेकडाउन प्रोडक्ट है। सामान्य कोशिकाओं के टूटने और खाएं जाने वाले खाद्य पदार्थो से शरीर में प्यूरिन मौजूद रहता है। उच्च यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के उपाय

अगर आपको भी हाई यूरिक एसिड की शिकायत है तो आपके लिए एक खुशखबरी है, अगर आप अपने खाने-पीने के तरीके में थोड़ा सा बदलाव कर लें, तो आपको इस समस्या से निजात मिल सकती है। प्रॉपर डाईट चार्ट बनाएं और उसे फॉलो करे। कुछ प्वाइंट को हमेशा ध्यान में रखें और नियमित इनका पालन करें। हाई यूरिक एसिड की दिक्कत होने पर क्या-क्या खाना चाहिये, इस बारे में इस आर्टिकल में बताया जा रहा है।

1) तरल पदार्थो का सेवन करें
हाई यूरिक एसिड होने पर ज्यादा से ज्यादा लिक्विड लें। इससे शरीर के विषाक्त पदार्थ पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाते है और शरीर की अन्य गंदगी भी साफ हो जाती है। एक दिन में कम से कम तीन लीटर पानी पिएं।


2) हाई-फाइबर फूड मैरीलैंड मेडिकल सेंटर के विश्वविद्यालय की एक रिपोर्ट के अनुसार, हाई-फाइबर फूड को खाने से शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड घट जाता है और संतुलित हो जाता है। इसे खाने से यूरिक एसिड की मात्रा अवशोषित हो जाती है और बाकी के विषाक्त पदार्थ यूरिन के रास्ते बाहर निकल जाते है। तरबूज और दलिया जैसे पदार्थ भी इसमें सहायक होते है।



3) चेरी हाई यूरिक एसिड की शिकायत होने पर चेरी का सेवन फायदेमंद होता है। इसके सेवन से ब्लॉकेज खुल जाते है और यूरिक एसिड भी कम हो जाता है। चेरी के सेवन से जेनॉक्सथाइन ऑक्सीडेस भी ब्लॉक हो जाता है जिससे यूरिक एसिड की मात्रा नियंत्रित हो जाती है। 


4) ब्रोकली ब्रोकली में फाइबर भरपूर मात्रा में होते है। इसमें विटामिन सी भी काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसे फूड चार्ट में अवश्य शामिल करें। इसके सेवन से शरीर यूरिक एसिड की मात्रा कम हो जाती है। 

5) बेकरी फूड अगर शरीर में यूरिक एसिड हाई हो, तो कभी भी बेकरी प्रोडक्ट नहीं खाने चाहिये। इनमें सेच्युरेटेड फैट होता है जिससे शरीर में हाई यूरिक एसिड हो जाता है, क्योंकि इनमें प्रीर्जवेटिव मिला होता है। केक, पैनकेक, पेस्ट्री आदि खाने से बचें। 

6) मछली और मीट हाई यूरिक एसिड की शिकायत होने पर मछली और मीट को न खाएं। कुछ विशेष प्रकार की मछली जैसे- सारडिनेस और मैकीरिल को कतई न खाएं। 

7) एल्कोहल न लें शरीर में एल्कोहल पहुंचने पर हाई यूरिक एसिड हो जाता है। अगर लगातार एल्कोहल का सेवन किया जाएं, तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है और कई बार गाउट अटैक आ जाता है। 


8) डिब्बा बंद फूड यूरिक एसिड बढ़ने की शिकायत होने पर डिब्बा बंद फूड का सेवन न करें। इससे बॉडी में यूरिक एसिड को बूस्टअप करने वाले तत्व नहीं मिलेगें और वह कंट्रोल में रहेगी। तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों मछली और मीट हाई यूरिक एसिड की शिकायत होने पर मछली और मीट को न खाएं।

9) कुछ विशेष प्रकार की मछली जैसे- सारडिनेस और मैकीरिल को कतई न खाएं।एल्कोहल न लें शरीर में एल्कोहल पहुंचने पर हाई यूरिक एसिड हो जाता है। 

10) अगर लगातार एल्कोहल का सेवन किया जाएं, तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है और कई बार गाउट अटैक आ जाता है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email