वैसे तो आजकल मच्छर मारने की टिकियाँ और दवाइयां आती हैं लेकिन इसके इस्तेमाल से हमारे शरीर को भी नुक्सान पहुंचता है।मच्छर भगाने वाली कवायल 100 सिग्रेट के बराबर नुकसान करता है इसलिए इनका इस्तेमाल करने की बजाय हमें प्राकृतिक तरीकों से मच्छरों को भगाना चाहिए।
-- नीम -केरोसीन लैम्प:- एक छोटी लैम्प में मिटटी के तेल में 30 बुँदे नीम के तेल की डालें, दो टिक्की कपूर को 20 ग्राम नारियल का तेल में पीस इसमें घोल लो
इसे जलाने पर मच्छर भाग जाते है और जब तक वो लैम्प जलती रहती है मच्छर नहीं आते वहाँ पर



--. दिया:- नारियल तेल में नीम के तेल को डाल कर उसका दिया जलाये इससे भी मच्छर नही आयेंगे--
--मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी का उपयोग करें।
--अजवाइन लें इसे पीसें अब इसमें समान भाग में सरसों का तेल मिलाकर इसमें गत्ते के टुकड़ों को तर करके कमरे में चारों तरफ उंचाई पर रख दें। ऐसा करने से मच्छर भाग जाएंगे।
जलते हुए कोयलों पर नारंगी के छिलके डाल दें। अब इससे जो धुंआ निकलेगा उससे मच्छर भाग जाएंगे।
--शरीर पर सरसों का तेल लगाने से मच्छर नहीं काटते। 
--तुलसी के पत्तों का रस शरीर पर लगाने से भी मच्छर नहीं काटते।
--नीम की पत्तियों के जलाने से जो धुंआ निकलता है उससे भी मच्छर भाग जाते हैं।
--लौंग के तेल की महक से मच्छर दूर भागते हैं। लौंग के तेल को नारियल तेल में मिलाकर त्वचा पर लगाएं, इसका असर ओडोमॉस से कम नहीं होगा।
--सोयाबीन के तेल से त्वचा की हल्की मसाज करें। इससे मच्छर दूर रहेंगे। इसके अलावा यूकोलिप्टस का तेल भी बहुत कारगर है।
--गेंदे के फूल की सुगंध न सिर्फ आपको ताजगी से भर देती है बल्कि मच्छर भी दूर भगाती है। गेंदे का पौधा न सिर्फ अपने बगीचे में रखें बल्कि बालकनी में भी इन्हें लगाएं जिससे शाम के समय मच्छर घर में न घुसें।
--लहसुन की कच्ची कलियां चबाने से भी मच्छर दूर रहते हैं।
--काली मिर्च के अरोमा वाला तेल भी मच्छर भगाने में मददगार है।

--मच्छर मारने का एलेक्टिर्क बेट भी आता है उस से मारे जा सकते है |

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email