वैसे तो यह सबको पता है कि नींबू और शहद के साथ गुनगुना गर्म पानी पीना स्वास्थ्यलाभ के दृष्टि से अच्छा होता है। मगर इसके बारे में सही जानकारी शायद ही किसी को है, इसलिए इस पेय को पीने से स्वास्थ्यलाभ संबंधित दस कारणों के बारे जानकारी दी जा रही है:

शहद और नींबू के साथ गुनगुना गर्म पानी पीने के दस स्वास्थ्यवर्द्धक कारण
शहद और नींबू के साथ गुनगुना गर्म पानी पीने के दस स्वास्थ्यवर्द्धक कारण
सुबह उठकर खाली पेट नींबू और शहद गुनगुने गर्म पानी में डालकर पीने से वज़न घटने के साथ-साथ दिन भर आप एनर्जी से भरपूर रहेंगे।

हजम शक्ति को बढ़ाता है: नींबू, शहद और गर्म पानी तीनों मिलकर हजम शक्ति को बढ़ाते हैं। नींबू लीवर को पित्त(बाइल) के उत्पादन में सहायता करता है और शरीर से विषाक्त पदार्थ को निकालने में भी मदद करता है। शहद में  एन्टीबैक्टिरीयल गुण होता है जिसके कारण वह शरीर को इनफेक्शन से बचाता है। यह आंत में श्लेष्मा(म्यूकस) के उत्पादन में सहायता करने के कारण शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में भी मदद करता है। 

 पेट को साफ करके कोलोन के कार्य को उन्नत करता है: आयुर्वेद में कहा जाता है कि पेट में विषाक्त पदार्थों का उत्पादन होता है। जो बाद में बीमारियों के कारण बन जाते हैं। नींबू और शहद के साथ गर्म पानी पीने से पेट से अमा या विषाक्त पदार्थ निकल जाते हैं और यह शरीर को पोषक तत्वों (nutrients) को सोखने में भी मदद करता है।

कब्ज़ से राहत दिलाता है: यह मिश्रण कब्ज़ से जल्दी राहत दिलाने में मदद करता है।

लसीका प्रणाली (lymphatic system) को साफ़ करने में मदद करता है: चिकित्सा शास्त्र के नियम के अनुसार सूखा लसीका प्रणाली विभिन्न प्रकार के बीमारियों का कारण बन जाता है। लसीका प्रणाली में पानी के कमी के कारण आपको बिना वजह के थकान महसूस होगा, तनावग्रस्त रहेंगे, कब्ज़ की समस्या उत्पन्न होगी, नींदमें परेशानी होगी, उच्च या निम्न रक्त चाप की समस्या होगी आदि। इस मिश्रण को सुबह पीने से लसीका प्रणाली में जल की कमी नहीं होती है और प्रतिरक्षा क्षमता (immunity) का भी विकास होगा। 

तुरन्त ऊर्जा मिलती है और मनोस्थिति में भी सुधार आता है: अगर आप थका हुआ महसूस कर रहे हैं तो इस मिश्रण को पीने से आप में तुरन्त ऊर्जा का संचार होने लगेगा और आप ताजा और ऊर्जायुक्त महसूस करेंगे। पानी मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को ठीक करने में मदद करता है। पेट में जो नेगटिव चार्ज्ड एन्जाइम्स होते हैं नींबू उन्हें सक्रिय करके पॉज़िटिव्ली चार्ज्ड एन्जाइम्स से लड़कर उन्हें खत्म करने में मदद करता हैं और खाना को हजम करवाने में मदद करता है। वैसे नींबू का महक ताजगी भी प्रदान करता है।  

यह मूत्र पथ को साफ़ करने में मदद करता है: वैसे तो शहद में  एन्टीबैक्टिरीयल गुण होता है जिसके कारण वह कई प्रकार के इन्फेक्शन से लड़ने में शरीर को मदद करता है। जब शहद को नींबू और पानी से साथ मिलाया जाता है तब यह मूत्र पथ को साफ़ रखने में मदद करता है। जिन महिलाओं को मूत्र पथ के संक्रमण(urinary tract infection) की बीमारी होती है उनके लिए यह मिश्रण भगवान के प्रसाद स्वरूप होता है। पढ़े-  

शरीर को नैचरल तरीके से डिटॉक्स करने वाले 7 खाद्द पदार्थ

मौखिक स्वास्थ्य को उन्नत करता है: नींबू का क्षारिय गुण (acidic nature) जब शहद और पानी के साथ मिलता है तब मुँह से बदबू निकलने के बीमारी से राहत दिलाने में मदद करता है। सुबह-सुबह इस मिश्रण को पीने से मुँह के जीवाणुओं (bacteria) को नष्ट करने में मदद करने के साथ-साथ जीभ के ऊपर जो सफ़ेद रंग का परत पड़ता है उस परत को भी साफ़ करने में मदद करता है। इससे मुँह से बदबू नहीं निकलता है।
वज़न को घटाने में मदद करता है: इस मिश्रण में पेक्टिन नाम का फाइबर होता है जिससे पेट देर तक भरा हुआ महसूस होता है। इस तरह यह वज़न घटाने की प्रक्रिया में मदद करता है।

साफ़ और स्वच्छ त्वचा प्रदान करता है: यह मिश्रण त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है और नई रक्त कोशिकाओं को  बनाने में मदद करता है। साथ ही कोलेज़न के उत्पादन में भी सहायक होता है। इन सब गुणों के कारण इस मिश्रण को पीने से त्वचा में अलग ही निखार आ जाता है।

इस मिश्रण को पीने का नियम और बनाने की विधि: 
इस मिश्रण को साधारणतः आप ब्रश करने के बाद ही पीना पसंद करेंगे मगर बिना ब्रश किए इसको पीने की सलाह दी जाती है।

विधि:
एक गिलास गुनगुना गर्म पानी लें, उसमें आधा नींबू का रस और एक छोटा चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस मिश्रण को बनाने के बाद तुरन्त पी लें। इसको पीने के एक घंटा के बाद ही चाय या कॉफी पीयें।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email