• 10:38:00 PM
क्या आप गर्भधारण के लिए प्रयास कर रहे हैं? आप दोनों जीवनशैली में कुछ बदलाव करके अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इस बारे में प्रमुख सुझाव नीचे पढ़ें।
पहला उपाय: सेहतमंद आहार खाएं

भोजन और प्रजनन क्षमता दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। अगर, आप दोनों नियमित स्वस्थ और संतुलित आहार लें, तो अपनी गर्भधारण करने की संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं।
दूसरा उपाय: साथ मिलकर व्यायाम करें

स्वस्थ और तंदुरुस्त रहना प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का एक अच्छा तरीका है। आपको बहुत ज्यादा व्यायाम करने की जरुरत नहीं है। बस नियमित साइकिल चलाना, टहलना या धीमी गति से दौड़ना ही काफी है। साइकिल की सीट पर कई घंटों तक बैठने से कुछ पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर असर पड़ सकता है, मगर शौकिया तौर पर साइकिल चलाने में कोई बुराई नहीं है।
तीसरा उपाय: आराम करें

तनाव में रहने से आपकी गर्भधारण की संभावनाओं पर असर पड़ सकता है। इसलिए, आप दोनों समय निकालकर एक-दूजे के साथ आरामदायक पल बिताएं।
चौथा उपाय: कुछ आदतों में बदलाव

लंबे समय तक बैठे रहने, लैपटॉप को गोद में रखकर इस्तेमाल करने, गर्मी के वातावरण में काम करने और तंग अंडरवियर पहनने से आपके शुक्राणु उत्पादन पर असर पड़ सकता है। अगर, आप पिता बनना चाह रहे हैं, तो लैपटॉप को मेज पर रखकर काम करने और ढीला अंडरवियर पहनने से आपको फायदा हो सकता है।
पांचवा उपाय: साथ घूमने जाएं

आप दोनों कंसेप्शनमून पर जाएं। कंसेप्शमून वे छुट्टियां हैं, जो लोग सिर्फ गर्भधारण के प्रयास के लिए लेते हैं। कई बार अपनी रोजमर्रा की दिनचर्या से हटकर कुछ अलग करना फायदेमंद हो सकता है। इससे आपको एक दूसरे के लिए समय निकालने और आराम करने में वाकई मदद मिल सकती है।
छठा उपाय: शराब का सेवन कम करें

अत्याधिक मात्रा में शराब पीने से आपकी प्रजनन क्षमता कम हो सकती है। कभी-कभार शराब का सेवन ठीक है, मगर यदि शराब आप दोनों की दैनिक जिंदगी का हिस्सा है, तो आप इसे कम करने का प्रयास करें।
सातवां उपाय: धूम्रपान छोड़ें

धूम्रपान, महिलाओं और पुरुषों में प्रजनन क्षमता घटाने के लिए जाना जाता है। अगर, आपने यह आदत नहीं छोड़ी है, तो क्यों न अब आप दोनों ऐसा करने में एक-दूसरे की मदद करें।
आठवां उपाय: प्यार को फिर से जगाएं

अगर आप घूमने नहीं जा सकते हैं या आपके पास इसके लिए समय नहीं है, तो अपने प्यार को फिर से जगाने के लिए अन्य तरीके आजमाएं। कुछ पति-पत्नी ऐसा महसूस करने लगते हैं कि वे केवल गर्भधारण के लिए ही संभोग कर रहे हैं। अगर, आपके साथ भी ऐसा ही है, तो आप अपने जननक्षम (फर्टाइल) दिनों को भूलकर, फिर से प्यार और रोमांस पर ध्यान दें।
नौवां उपाय: नियमित संभोग करें, मगर अनुशासित नहीं

जैसा कि हम सब जानते हैं, कि प्रेम संबंध बनाना सबसे महत्वपूर्ण है! हालांकि, अपनी डिंबोत्सर्जन (ओव्यूलेशन) अवधि का पता होने से फायदा होता है, मगर हर दूसरे या तीसरे दिन संभोग करने से भी आपके गर्भधारण की संभावना काफी ज्यादा रहती हैं।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email