कई ऐसी माएं हैं जो कम दूध होने की वजह से अपने बच्चे को स्तनपान नहीं करा पाती हैं। पारंपरिक रूप से बच्चे के जन्म के बाद, नयी माँ का दूध उतरने के लिए अनुकूल भोजन प्रदान किया जाता है। आज के पोस्ट में, मैं आपको दूध बढ़ाने के लिए १५ सर्वोत्तम आहारों के बारे में बताने वाली हूँ। इन्हें ‘गैलेक्टोगॉग्स’ के रूप में जाना जाता है।
१. लहसुन
लहसुन चावल, लहसुन की चटनी, भुना हुआ लहसुन, लहसुन रसम, तिल के तेल में छौंके हुए लहसुन के रूप में लहसुन के सेवन से माँ का दूध बढ़ने में मदद मिलती है। यदि आपका बच्चा चिड़चिड़ा है तो इसे कम मात्रा में लें। लहसुन पाचन तंत्र की सुचारु क्रियाशीलता में सहायता करता है, गैस दूर करता है और खमीर संक्रमण या छाले से बचाता है।
२. मेथी 
मेथी में फायटोएस्ट्रोजन पाया जाता है जो एस्ट्रोजन के समान रसायन होता है। इसमें मौजूद एक प्रमुख तत्व डिओसजेनिन स्तन का दूध बढ़ाने करने में कारगर साबित हुआ है। इसे डोसा/चाय के रूप में लिया जा सकता है या पानी के साथ साबुत निगला जा सकता है। इसे बहुत प्राचीन समय से नयी माँओं के द्वारा प्रयोग किया जाता रहा है। मेथी के दाने आयरन, कैल्शियम, विटामिन और मिनरल से भरपूर होते हैं।
पढ़ें: गर्भावस्था का ९वां महीना Increase Lactation In New Moms
३. दूध
दूध स्तनपान के दौरान माँ के शरीर से समाप्त होने वाले कैल्शियम की भरपाई करने में सहायता करता है, हाइड्रेट करता है और दूध बढ़ाने में भी मदद करता है।


४. सैजन की पत्तियां
केरल में नयी माँओं को भुजिया/सब्जी के रूप में सैजन की पत्तियां दी जाती हैं। यह दूध का उत्पादन बढ़ाने में सहायता करता है।
५. ब्राउन राइस 
यह एक अन्य सर्वोत्तम आहार है जो पर्याप्त दूध उत्पादित कर सकता है। Increase Lactation In New Moms
६. जई
जई में प्रचुर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है और यह दूध के उत्पादन में भी सहायता करता है। नयी माँ के खानपान में जई को प्रतिदिन शामिल किया जा सकता है।
७. पालक 
आयरन से भरपूर पालक दूध का उत्पादन बढ़ाने में भी सहायता कर सकता है।
८. मछली 
मेरा पसंदीदा! सार्डिन और सामन नयी माँओं का दूध बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। इसे करी/काली मिर्च पाउडर के साथ तलकर/ग्रिल के रूप में लिया जा सकता है। मछली को पूर्व प्रसव आहार में भी शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि इसे बच्चों के दिमाग के विकास के लिए अच्छा माना जाता है। Increase Lactation In New Moms
९. लौकी 
दूधी या लौकी भी सहायता करता है। लौकी की प्रजाति की सभी सब्जियां दूध के उत्पादन में वृद्धि करती हैं। लौकी को सब्जी, भुजिया, हलवा, खीर आदि के रूप में लिया जा सकता है।
१०. पानी
बहुत सारा पानी हाइड्रेशन में सहायता करता है और नयी माँओं के दूध उत्पादन को बढ़ाता है। प्रत्येक बार स्तनपान कराने से पहले और बाद में माँ को एक गिलास फल का रस या पानी लेना चाहिए।
११. चना
हल्की करी/हमस के रूप में चने का प्रयोग भी किया जा सकता है। प्राचीन मिस्र काल से इसका प्रयोग स्तनपान कराने वाली माँओं के द्वारा किया जाता रहा है।

१२. बादाम 
बादाम प्रोटीन और विटामिन ई का प्रचुर स्त्रोत होता है जो दूध उत्पादन में भी सहायता करता है। नयी माएं रात भर भिगाकर रखे गए ३-५ बादाम ले सकती हैं।
पढ़ें: स्ट्रेच मार्क्स के लिए पमार्स कोको बटर फॉर्मूला मसाज क्रीम
१३. तिल का तेल और घी 
केरल में, नयी माँओं के लिए भोजन केवल तिल के तेल में तैयार किया जाता है। इसे नयी माँओं में दूध का उत्पादन बढ़ाने वाला माना जाता है। घी पर्याप्त पौष्टिक तत्व प्रदान करता है और हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायता करता है। यह माँ के दूध के लिए प्रेरक के रूप में भी कार्य करता है। Increase Lactation In New Moms
१४. तिल 
तिल में कैल्शियम की उच्च मात्रा मौजूद होती है और यह माँ को बच्चे को अच्छी प्रकार से स्तनपान कराने में सहायता करता है। इसे लड्डू/ चटनी/ साबुत पानी के साथ लिया जा सकता है।
१५. सोआ बीज, अजवाइन/जीरा और सौंफ भी दूध बढ़ाने वाले आहार हैं।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email