यूं तो ज्यादातर लोग परफ्यूम और आफ्टरशेव जैसे सुगंधित उत्पाद को अपनी गर्दन और कलाइयों में लगाते हैं, लेकिन परफ्यूम एक्सपर्ट्स की मानें तो ऐसा करने से लोग शरीर के उस सबसे महत्वपूर्ण हिस्से को दरकिनार कर रहे हैं जहां इसे लगाने से वाकई खुशबू और खिल उठती है। प्रमुख फ्रैगरेंस कंपनी टाकासैगो के सीनियर परफ्यूमर स्टीवेन क्लैसे की सलाह है कि सभी को चाहिए कि वे अपनी नाभि में भी परफ्यूम की कुछ बूंदें-स्प्रे करें।

 उनका कहना है कि ऐसा करना सबसे बेहतर इसलिए है, क्योंकि शरीर का केंद्र यानी नाभि ऊष्मा (हीट) उत्सर्जित करती है और यह स्थान सुगंध डालने के लिए एक प्राकृतिक खोह जैसे स्थान मुहैया कराती है। उन्होंने कहा कि ऊष्मा उत्सर्जित करने वाला शरीर का कोई भी हिस्सा सुगंध को और बेहतर बना देता है और आपकी नाभि ठीक ऐसा ही करती है। स्टीवेन यह भी सलाह देते हैं कि आपको अपने बालों में भी परफ्यूम का हल्का सा स्प्रे करना चाहिए क्योंकि बालों की लटें खुशबू को बहुत अच्छी तरह से संभाल लेती हैं और जैसे आप इधर-उधर जाते हैं खुशबू बिखरती रहती है। हालांकि ऐसा करने से आपके बालों के ड्राई होने का जोखिम पैदा हो जाता है।

उन्होंने लोगों से यह भी अनुरोध किया है कि अपने कानों के पीछे परफ्यूम स्प्रे करने की बजाय कानों के ऊपर की ओर (टॉप) इसे थोड़ा सा लगाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे ड्राई होने की संभावना कम और ऑयली होने की ज्यादा हो जाएगी, जिससे खुशबू ज्यादा वक्त तक ठहरेगी। इसके अलावा शरीर के अन्य ऊष्मा छोड़ने वाले हिस्सों में आपके घुटनों के पीछे और कोहनी के आगे का भाग शामिल है।

अगर आप छोटे कपड़े (शॉर्ट ड्रेस) पहनती हैं तो परफ्यूम लगाने का सबसे बेहतर तरीका अपनी पिंडलियों (पैर के पीछे का हिस्सा) में स्प्रे करना है, क्योंकि चलते वक्त आपके पैरों के बीच होने वाला घर्षण गर्मी पैदा करेगा जिससे खुशबू दिन भर आती रहेगी। इससे मिलती जुलती ही ट्रिक एंकल (टखना) पर स्प्रे करना है क्योंकि यह आपके जूते से रगड़कर गर्मी पैदा करके सुगंध को जिंदा बनाए रखता है। इसके साथ ही ऊन या कश्मीरी कपड़ों पर स्प्रे करना भी कमाल कर देता है, जिससे लंबे वक्त तक सुगंध बनी रहती है।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email