आप चाहे चेहरे से बहुत सुंदर हैं, लेकिन आपके पैर की हालत ख़राब है, तो इसका आपके व्यक्तित्व पर प्रभाव पड़ता है | इससे पता चलता है की आप अपनी ग्रूमिंग पर कितना ध्यान देतीं हैं | आप के पैर आप की व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ बयां कर देतें हैं |
पैरों की सम्पूर्ण सुंदरता खूबसूरत नाखूनों से होती है, पैरों का रंग गोरा और त्वचा भी मुलायम हो पर नाखून टेढ़े या काले हो तो पैरों की मोहकता में कमी आना स्वाभाविक है | इसलिए चेहरे की देखभाल के साथ ही पैरों को बराबर का प्यार दुलार दीजिए फिर देखिये आपके व्यक्तित्व में केसे चार चांद लगते हैं | इसके लिए फुट स्पा, पेडिक्योर और घरेलु नुस्खे अपनाएं |
फुट स्पा कराना एक बेहतर ऑप्शन है | इसमें दोनों पैरों को बबलिंग स्पा मशीन में डाला जाता है| जिसमे पैरों की धुलाई और ब्रशिंग की जाती है | ऐसा करने से मृत त्वचा हट जाती है और त्वचा मुलायम और कोमल बन जाती है | बबलिंग फुट स्पा में कुछ विशेष प्रकार की साम्रगी को मिलाया जाता है | पैरों को सुखाने के बाद, मसाज की प्रक्रिया चलती रहती है |

फुट स्पा कैसे करें 

  1. नेल पॉलिश साफ करें : फुट स्पा का यह पहला चरण है | पैरों की नेलपॉलिश को साफ करने के लिए एसिटोन फ्री रिमूवर का चुनाव करें(जो अच्छे से सफाई करता है)
  2. पैरों को भिगोए : पेडिकयोर स्नान और शावर लेने के बाद ही कराएं, लेकिन फुट स्पा में बबलिंग मशीन का प्रयोग होता है जिससे ग्राहक के पैरों की त्वचा को पांच मिनट में मुलायम बनाया जा सकता हैं | आप हीटर भी ऑन कर सकती हैं ताकि पानी गुनगुना हो जाए | इससे पैरों की मृत त्वचा जल्दी हटाने में मदद मिलेगी |
  3. मृत त्वचा को हटाएं : पैरों की ऐड़ियों और अंगूठे के आसपास जहां भी सख्त त्वचा है उसे स्क्रब से रगड़कर साफ करें | इसके लिए खासतौर पर फुट स्क्रब (प्यूमिक स्टोन) और एक्सफोलिएटिंग का इस्तेमाल करें यह मृत त्वचा को तेजी से हटाता है |
  4. क्लिप और शेप नेल्स : कई युवतियों को लंबे नाखून बहुत पसंद होते हैं लेकिन लंबे नाखून अगर सही सुंदर आकार में न हों तो बुरे दिखते हैं इसलिए उन्हें क्लीपर से काटकर और फाइल से एक सही और उचित लंबाई दें |
  5. क्यूटिकल्स हटाएं : क्यूटिकल नाखूनों को ढक कर उनकी चमक फीकी तो करते हैं नाखूनों को बढ़ने से भी रोकते हैं इसलिए | क्यूटिकल को पीछे की तरफउनके स्थान पर ले जाएं |
  6. एक्स्ट्रा स्किन हटाएं : नाखूनों के आसपास फालतू स्किन जमा हो जाती है | यह अधिकतर उन्ही पांवों में होती है जिनकी त्वचा रूखी होती है | कई बार यह एक्स्ट्रा स्किन नाखूनों से भी अधिक सख्त और नुकीली हो जाती है | इसे नाखूनों के आसपास से नेल निपर की सहायता से काटें |
  7. मॉयश्चराइज़ : इसके बाद पैरों की त्वचा और नाखूनों को मुलायम बनाने के लिए आप किसी अच्छी कपनी का मॉयश्चराइजर और फुट क्रीम लगाएं | जितना अधिक रूखी त्वचा हो उतना ही अधिक क्रीम का प्रयोग करें | फुट स्पा के बाद त्वचा इतनी नरम हो जाएगी कि क्रीम आसानी से और जल्दी ही त्वचा में समा जाएगी | यह बेहतर है | इससे पता चलेगा कि आपकी त्वचा कितने मॉयश्चराइज़र की आवश्यकता है |
“ फंगस :
 गर्मी के मौसम में बंद जूते या सैंडिल से पैरों में पसीना  आता है और उन्हें खुली हवा नहीं मिल पाती जिसमे पैरों में फंगस की समस्या हो सकती है और नाखून काले पड़ने के झाथ टूट भी सकते है। इससे बचने के लिए संभव हो तो इस मौसम में ऐसे सैंडिल और जूतों का प्रयोग करें जो आगे से खुला हुआ हो | अगर आप ऐसे जूतों का प्रयोग कर रहें हैं तो फंगस से बचने के लिए एंटी फंगस क्रीम और लोशन का प्रयोग करें | पैर  में पसीना अधिक आता है तो पैरों में ऐसे पाउडर का प्रयोग करें जिसमें अल्मुनियम क्लोराइड हेकासाहाइड्रेट का मिश्रण हो | “

  1. नेल पॉलिश : अंत में नाखूनों पर पहले नेलपॉलिश का बेस कोट लगाएं | उस पर ग्राहक की मनपसंद का कोई नेलपॉलिश लगा दें |
अगर आप अपने पैरों की खूबसूरती बढाना चाहती हैं, तो उन की उचित देखभाल करें | ये सही है कि पेडिक्योर करवा कर आप अपने पैरों की देखभाल करती हैं, लेकिन कुछ देखभाल तो घर पर भी करना चाहिए |
पैरों की देखभाल के लिए खास बातों पर ध्यान दिया जाना चाहिए | आप की एडियां न फटें इसके लिए सोने से पहले एक टब में गुनगुना पानी लेकर उसमें एसेंशियल आयल डाल दें फिर इस पानी में पैरों को 15 मिनट तक डुबोएं रखें | इससे आप के पैरों की त्वचा कोमल हो जाएगी |
फिर टो ब्रश से नाखूनों को साफ करें और प्यूमिक स्टोन से एडियों को रगड कर साफ करें | ऐसा करने से सारी डेड स्किन निकल जाएगी और आप के पैर साफ नजर आएंगे |
टोनेल्स की खूबसूरती के लिए क्यूटिकल क्रीम, पेट्रोलियम जैली और विटामिन ई युक्त तेल का प्रयोग करें | सोने से पहले क्रीम या तेल को नाखूनों पर लगा कर हल्के हाथों से मालिश करें |

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email