त्वचा पर पेपीलोमा वायरस के कारण छोटे, खुरदुरे कठोर पिंड बन जाते हैं जिसे मस्सा कहते हैं। मस्से काले और भूरे रंग के होते हैं। मस्से 8 से 12 प्रकार के होते हैं। कई बार बढ़ती उम्र के साथ कई जगह शरीर पर कई तरह के मस्से निकल आते हैं। 
ये मस्से कई बार ऎसी जगह हो जाते हैं जिनसे परेशानिया आती है जैसे गले पर मस्से निकल आए तो कले में किसी भी तरह के नेकलेस या चेन पहननेसे ये मस्से उसमे उजझ जाते हैं और आपको दर्द होता है। इन अनचाहे मस्सो को आराम से हटाया जा सकता है। बस कुछ इस तरह से रोज किजीए और छू-मंतर हो जाएंगे ये मस्से। 
-मस्सा दूर करने के घरेलू नुस्खे। रूई में नींबू का रस निचोड़ें और इसे मस्से पर लगा दें। कुछ देर बाद इसे पानी से साफ करें। लगातार दो-तीन सप्ताह तक ऎसा करने पर आप महसूस करेंगे कि मस्सा गल चुका है।
-फ्लॉस या धागे से मस्से को बांध 2-3 हफ्ते तक छोड़ दें। मस्से में रक्त प्रवाह रूक जाएगा और वह खुद ही निकल जाएगा।
- खट्टे सेब लेकर उनका जूस निकाल लीजिए और उसको दिन में कम से कम तीन बार मस्से की जगह पर लगाइए। इस जूस को नियमित रूप से लगाने पर आप पाएंगे कि मस्से धीरे-धीरे झड़ रहे हैं और तीसरे सप्ताह तक लगभग समाप्‍त हो जाएंगे।
-मस्से को समाप्‍त करने के लिए एक अगरबत्ती जला लें और अगरबत्ती के जले हुए गुल को मस्से का स्पर्श कर तुरन्त हटा लें। ऎसा 8-10 बार करें, ऎसा करने से मस्सा सूखकर झड़ जाएगा। अगर ज्‍यादा मस्से हों तो बारी-बारी से सभी मस्सों को इसी तरीके से जलाकर झड़ा दें। ध्यान रहे, अगरबत्ती का स्पर्श सिर्फ मस्से पर ही होना चाहिए।
- आलू का प्रयोग करने से भी मस्‍से समाप्‍त होते हैं। आलू को छीलकर काट लीजिए, उसके कटे हुए हिस्‍से को मस्‍सों पर रगडिए, ऎसा करने से कुछ दिनों में मस्‍से समाप्‍त हो जाते हैं। 
- मस्‍से को समाप्‍त करने के लिए प्‍याज भी फायदेमंद है। एक प्याज को लेकर उसके रस को दिन में एक बार नियमित रूप से लगाने से मस्‍से समाप्‍त होते हैं।
-बेकिंग सोडा और अरंडी के तेल को रात में मस्सों लगाकर सो जाइए, ऎसा करने से मस्‍से धीरे-धीरे मस्‍से समाप्‍त हो जाते हैं। 
- रात को सोने से पहले और सुबह उठने के बाद मस्‍सों पर शहद लगाइए, इससे मस्‍से खत्‍म हो जाते हैं।
- मस्‍से वाले हिस्‍से को पाइनेपल के जूस में रखिए, इससे मस्‍से नष्‍ट करने वाले एंजाइम होते हैं। फूल गोभी का रस मिलाने से मस्‍से समाप्‍त हो जाते हैं।
- लहसुन की कली को छील लीजिए, उसके बाद उसे काटकर मस्‍सों पर र‍गडिए, कुछ दिन बाद मस्‍से सूखकर झड़ जाएंगे।

Categories

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी https://desinushkhe.blogspot.in/ की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
Powered by Blogger.

Follow by Email